work

Summer vacation 2022 home work in chemistry

Summer vacation 2022 home work ग्रीष्मावकाश 2022 गृह कार्य रसायन विज्ञान class12
1- आवर्त सारणी के s, p तथा d ब्लॉक तत्वों के प्रतीक तथा नाम वर्गानुसार (ऊपर से नीचे) याद करो , तथा एक पेज पर आवर्त सारणी का चित्र बनाओ ।
2- महत्वपूर्ण धनायनों तथा ऋणायनों की एक सूची बनाओ तथा उनकी संयोजकता /आवेश याद करो ।
3- ऋणायनों (अम्लीय मूलकों) तथा धनायनों (क्षारीय मूलकों) को ग्रुप अभिकर्मक के आधार पर किस प्रकार वर्गीकृत किया गया है , उसे लिखो तथा याद करो ।
4- सरल घनीय ,फलक केंद्रित तथा काय केंद्रित घनीय यूनिट सेलों का मिट्टी से एक मॉडल बनाओ ।
5- क्रिस्टलीय ठोसों के प्रकार की तुलनात्मक सारणी बनाओ तथा प्रत्येक प्रकार में 20-20 उदाहरण लिखो ।

निम्न प्रश्नों को एक अलग कॉपी में करो।

प्रश्न :-1 इसके यूनिट सेल में कितने परमाणु होंगे ?
(i) एक (bcc )काय-केंद्रित क्यूबिक सेल, और (ii) एक (fcc) फलक-केंद्रित क्यूबिक सेल?
प्रश्न :-2 कांच को सुपरकूल्ड तरल क्यों माना जाता है?
प्रश्न :-3 विद्युत चालक, जो आघातवर्धनीय तथा तन्य होते हैं किस प्रकार के ठोस हैं?
प्रश्न :-4 एक वर्गाकार निविड़ संकुलन में अवयवी कण की द्वि-आयामी समन्वय संख्या क्या है?
प्रश्न :-5 किस प्रकार के आयनिक ठोस पदार्थ शोट्की दोष दर्शाते हैं?
प्रश्न :-6 KCl, के क्रिस्टल को पोटैशियम वाष्प में गर्म करने पर क्रिस्टल बैंगनी प्रदर्शित होने लगता है | यह किस कारण से है?
प्रश्न :-7 किस प्रकार के पदार्थ बेहतर स्थायी चुंबक, फेरोमैग्नेटिक या फेरिमैग्नेटिक बनाते हैं?
प्रश्न :-8 AgCl द्वारा किस प्रकार का स्टोइकोमीट्रिक दोष प्रदर्शित किया जाता है?
प्रश्न :-9 कितने परमाणु एक फलक-केंद्रित घन क्रिस्टल की एक इकाई कोशिका का निर्माण करते हैं?
प्रश्न :-10 (a) Li वाष्प में गर्म करने पर LiCl गुलाबी रंग का क्यों हो जाता है? (b) घन क्रिस्टल के साथ एक ठोस दो तत्वों ‘P’ और ‘Q ‘से बना है | Q के परमाणु घन के केंद्र में और ‘P’ घन के केंद्र में हैं। यौगिक का सूत्र क्या है?
प्रश्न :-11 निम्नलिखित के लिए कारण बताइये :
(i) Schottky दोष ठोस पदार्थों के घनत्व को कम करता है।
(ii) फास्फोरस के साथ मिलाने पर सिलिकॉन की चालकता बढ़ जाती है।
प्रश्न :-12 नाइओबियम (Nb) काय-केंद्रित घन संरचना में क्रिस्टलीकृत होता है। यदि घनत्व 8.55 ग्राम सेमी-3 है, तो इसके परमाणु द्रव्यमान 93 u का उपयोग करके नाइओबियम की परमाणु त्रिज्या की गणना करें।
प्रश्न :-13 a) जब AgCl को CdCl2 के साथ डोप किया जाता है तो क्या परिवर्तन होता है?
(बी) जब सिलिकॉन को बोरॉन के साथ डोप किया जाता है तो किस प्रकार का अर्धचालक उत्पन्न होता है?
प्रश्न :-14 एल्युमिनियम fcc संरचना में क्रिस्टलीकृत होता है। धातु की परमाणु त्रिज्या 125 pm है। धातु की एकक कोष्ठिका की भुजा की लंबाई कितनी है?
प्रश्न :-15 (a) बोरॉन के साथ सिलिकॉन डालने पर किस प्रकार का अर्धचालक प्राप्त होता है?
(b) चुंबकीय आघूर्णों के निम्नलिखित संरेखण में किस प्रकार का चुंबकत्व दिखाया गया है?
↑↑↑↑↑↑↑↑↑↑↑↑
(c) जब AgCl को CdCl2 के साथ डोप किया जाता है तो किस प्रकार का बिंदु दोष उत्पन्न होता है?
प्रश्न :-16आयरन (II) ऑक्साइड की एक घन संरचना होती है और यूनिट सेल का प्रत्येक face 5 A होता है। यदि ऑक्साइड का घनत्व 4 ग्राम सेमी -3 है, तो प्रत्येक यूनिट सेल में मौजूद Fe++ और O- – आयनों की संख्या की गणना करें। [Fe = 56 u, O = 16 u, NA = 6.023 X 1023 mol-1 का परमाणु द्रव्यमान]

प्रश्न :-17 एक तत्व bcc संरचना में है। इसकी सेल किनारे की लंबाई 250 pm है।मोलर द्रव्यमान की गणना करें यदि इसका घनत्व 8.0 ग्राम सेमी -3 है। इस तत्व के एक परमाणु की त्रिज्या भी परिकलित कीजिए।
प्रश्न :-18 ​​एक तत्व जिसका मोलर द्रव्यमान 27 g mol-1 है, एक घन इकाई सेल बनाता है जिसकी लंबाई 4.05 X 10-8 सेमी है। यदि इसका घनत्व 2.7 ग्राम सेमी-3 है, तो घन इकाई सेल की प्रकृति क्या है?
प्रश्न :-19 AgBr और AgI द्वारा किस प्रकार का स्टोइकोमीट्रिक दोष प्रदर्शित किया जाता है?
प्रश्न :-20 किसी ठोस को गर्म करने पर किस प्रकार का दोष उत्पन्न हो सकता है?
प्रश्न :-21 अर्धचालक में ‘डोपिंग’ का क्या अर्थ है?
प्रश्न :-22 n-प्रकार के अर्धचालक क्या हैं?
प्रश्न :-23 धात्विक चमक से भिन्न धात्विक ठोस और आयनिक ठोस में कोई अंतर लिखिए।
प्रश्न :-24 एक आंतरिक अर्धचालक की चालकता कैसे बढ़ाई जा सकती है?
प्रश्न :-25 ठोस के बैंड सिद्धांत के संदर्भ में ‘निषिद्ध क्षेत्र’ शब्द का क्या अर्थ है?
प्रश्न :-26 एक उदाहरण के साथ अनुचुम्बकत्व को परिभाषित करें।
प्रश्न :-27 क्रिस्टलों में कौन-सा स्टोइकोमीट्रिक दोष किसी ठोस के घनत्व को बढ़ाता है?
प्रश्न :-28 टंगस्टन bcc इकाई सेल में क्रिस्टलीकृत होता है। यदि यूनिट सेल का किनारा 316.5 pm है, तो टंगस्टन परमाणु की त्रिज्या क्या है?
प्रश्न :-29 लोहे में 286.65pm के सेल किनारे के साथ एक bcc घन इकाई कोष्ठिका होती है। लोहे का घनत्व 7.874 ग्राम सेमी-3 है। इस जानकारी का उपयोग अवोगाद्रो की संख्या की गणना के लिए करें। (लोहे के द्रव्यमान पर = 55.845 u)
प्रश्न :-30 चांदी fcc यूनिट सेल में क्रिस्टलाइज होती है। यदि चांदी के परमाणु की त्रिज्या 145 pm है, तो एकक कोष्ठिका की प्रत्येक भुजा की लंबाई क्या है?
प्रश्न :-31 कॉपर fcc यूनिट सेल के साथ क्रिस्टलीकृत होता है। यदि तांबे के परमाणु की त्रिज्या 127.8 pm है, तो तांबे की धातु के घनत्व की गणना करें। (घन का परमाणु द्रव्यमान = 63.55 u और अवोगाद्रो की संख्या (NA) = 6.02 X 1023 mol-1)
प्रश्न :-32 (a) आंतरिक अर्धचालक क्या हैं? एक उदाहरण दें।
(b) NaCl क्रिस्टल में Na+ और Cl- आयनों के बीच की दूरी क्या है यदि इसका घनत्व 2.165 g cm-3 है। [Na का परमाणु द्रव्यमान = 23 u, Cl = 35.5 u, अवोगाद्रो की संख्या = 6.023 X 1023}
प्रश्न :-33 ‘क्रिस्टलीय ठोस (विषमदैशिक) अनिसोट्रोपिक प्रकृति के होते हैं।’ इस कथन का क्या अर्थ है?
प्रश्न :-34 ‘आंतरिक अर्धचालक’ का क्या अर्थ है?
प्रश्न :- प्रत्येक के उपयुक्त उदाहरणों के साथ निम्नलिखित शब्दों की व्याख्या करें: ‘
(i) फेरोमैग्नेटिज्म
(ii) एंटीफेरोमैग्नेटिज्म
प्रश्न :-35 साधारण घन जालक (scc) के लिए धातु क्रिस्टल की पैकिंग दक्षता परिकलित कीजिए।
प्रश्न :-36 सोने(Au) और कैडमियम (Cd) का एक मिश्र धातु एक घन संरचना के साथ क्रिस्टलीकृत होता है जिसमें सोने के परमाणु कोनों पर कब्जा कर लेते हैं और कैडमियम परमाणु के फलक केंद्र में फिट हो जाते हैं। इस मिश्र धातु के लिए सूत्र निर्दिष्ट करें।
प्रश्न :-37 स्पष्ट करें कि आप किसी अज्ञात धातु के परमाणु द्रव्यमान का निर्धारण कैसे कर सकते हैं यदि आप इसके द्रव्यमान , घनत्व और इसके क्रिस्टल की इकाई सेल के आयाम (edge length) और सेल के प्रकार को जानते हैं।
प्रश्न :-38 लेड का घनत्व 11.35 g cm-3 है और धातु शुल्क इकाई सेल के साथ क्रिस्टलीकृत होती है। लेड परमाणु की त्रिज्या का अनुमान लगाएं। (सीसा के द्रव्यमान पर = 207 g mol-1 और NA = 6.02 X 1023mol-1
प्रश्न :-39 एल्युमिनियम घनी घनी-भरी संरचना में क्रिस्टलीकृत होता है। धातु में परमाणु की त्रिज्या 125 pm है।
प्रश्न :-40 लेड का घनत्व 11.35 g cm-3 है और धातु शुल्क इकाई सेल के साथ क्रिस्टलीकृत होती है। लेड परमाणु की त्रिज्या का अनुमान लगाएं। (सीसा के द्रव्यमान पर = 207 g mol-1 और NA = 6.02 X 1023mol-1
प्रश्न :-41 एल्युमिनियम CCP संरचना में क्रिस्टलीकृत होता है। धातु परमाणु की त्रिज्या 125 pm है।
(i) यूनिट सेल की भुजा की लंबाई क्या है?
(it) एल्युमिनियम के 1 cm3 में कितने यूनिट सेल हैं?
प्रश्न :-42 चांदी फलक केंद्रित घन इकाई सेल में क्रिस्टलीकृत होता है। यूनिट सेल के प्रत्येक फलक की लंबाई 400 pm होती है। चांदी के परमाणु की त्रिज्या की गणना करें। (मान लें कि परमाणु एक-दूसरे को इकाई सेल के चेहरे पर विकर्ण पर स्पर्श करते हैं। यानी प्रत्येक फलक परमाणु चार कोने वाले परमाणुओं को छू रहा है।)
प्रश्न :-43 एक विशेषता लिखिए जो एक धात्विक ठोस को एक आयनिक ठोस से अलग करेगी।
प्रश्न :-44 धात्विक ठोसों की एक विशिष्ट विशेषता लिखिए।
प्रश्न :-45 ध्रुवीय आणविक ठोस में अणुओं को किस प्रकार की अन्योन्य क्रियाएँ एक साथ रखती हैं?
प्रश्न :-46 सिलिकॉन को आर्सेनिक के साथ मिलाने पर किस प्रकार का अर्धचालक प्राप्त होता है?
प्रश्न :-47 एक आयनिक यौगिक का उदाहरण दीजिए जो फ्रेंकल दोष दर्शाता है।
प्रश्न :-48 एक साधारण घन क्रिस्टल की एक इकाई कोष्ठिका में परमाणुओं की संख्या कितनी होती है?
प्रश्न :-49 किसी ठोस के क्रिस्टल में किस बिंदु दोष से ठोस का घनत्व नहीं बदलता है?
प्रश्न :-50 धात्विक चमक से भिन्न धात्विक ठोस और आयनिक ठोस में कोई अंतर लिखिए।
प्रश्न :-51 शोट्की और फ्रेनकेल दोषों से क्रिस्टल के निम्नलिखित गुण कैसे प्रभावित होते हैं?
(i) घनत्व
(ii) विद्युत चालकता
प्रश्न :-52 कॉपर 3.61 X 10-8 सेमी किनारे की लंबाई के साथ एक शुल्क जाली में क्रिस्टलीकृत होता है। तांबे के घनत्व की गणना करें। [दिया गया है: Cu = 63.5 g mol-1, NA = 6.022 X 1023mol-1]
प्रश्न :-53 प्रसिद्ध खनिज फ्लोराइट रासायनिक रूप से कैल्शियम फ्लोराइड है। यह ज्ञात है कि इस खनिज की एक इकाई कोशिका में 4 Ca++ आयन और 8 F– होते हैं। आयनों और Ca++ आयनों को एक fcc जालक में व्यवस्थित है। F- आयन Ca++ आयनों के फलक केंद्रित घन जालक में सभी चतुष्फलकीय छिद्रों को भरते हैं। यूनिट सेल का किनारा लंबाई में 5.46 X 10-8 सेमी है। ठोस का घनत्व 3.18 g cm-3 है। इस जानकारी का उपयोग अवोगाद्रो की संख्या की गणना के लिए करें। (CaF2 का मोलर द्रव्यमान = 78.08 g mol-1)
प्रश्न :-54 तांबे की धातु का घनत्व 8.95 ग्राम सेमी-3 है। यदि तांबे के परमाणु की त्रिज्या 127.8 pm है, तो क्या कॉपर यूनिट सेल एक साधारण घन, एक शरीर-केंद्रित घन या एक फलक-केंद्रित घन संरचना है? (दिया गया है: Cu का द्रव्यमान = 63.54 g mol-1 और NA = 6.02 X 1023 mol-1)
प्रश्न :-55 fcc जाली में चांदी क्रिस्टलीकृत होती है। यदि यूनिट सेल के किनारे की लंबाई 4.07 X 108 सेमी है और चांदी का घनत्व 10.5 ग्राम सेमी -3 है, तो चांदी के परमाणु द्रव्यमान की गणना करें। (NA = 6.02 X 1023 परमाणु mol-1)
प्रश्न :- 56 तांबा फलक-केंद्रित घन जालक में क्रिस्टलीकृत होता है और 293 K पर 8.930 g cm-3 का घनत्व होता है। तांबे के परमाणु की त्रिज्या की गणना करें। [Cu का परमाणु द्रव्यमान = 63.55 u, NA = 6.02 X 1023 mol-1]
प्रश्न :-57 लोहे में 286.65 pm के सेल किनारे के साथ एक bcc क्यूबिक यूनिट सेल होता है। लोहे का घनत्व 7.874 ग्राम सेमी-3 है। इस जानकारी का उपयोग अवोगाद्रो की संख्या की गणना के लिए करें। (लोहे के द्रव्यमान पर = 55.845 u)
प्रश्न :-58 चांदी fcc क्यूबिक यूनिट सेल में क्रिस्टलीकृत होती है। यूनिट सेल के प्रत्येक पक्ष की लंबाई 400 pm होती है। चांदी के परमाणु की त्रिज्या की गणना करें। (मान लें कि परमाणु एक-दूसरे को इकाई सेल के चेहरे पर विकर्ण पर स्पर्श करते हैं। यानी प्रत्येक फलक परमाणु चार कोने वाले परमाणुओं को छू रहा है।)
प्रश्न :-59 इसकी क्रिस्टल इकाइयों में कौन सा बिंदु दोष एक ठोस के घनत्व को बदल देता है?
प्रश्न :-60 यदि कोई तत्व (i) एक क्रिस्टल बनाता है, तो इसकी इकाई सेल में कितने परमाणु हैं-
काय केन्द्रित घन सेल, और (ii) फलक केन्द्रित घन सेल?
प्रश्न :-61 कितने परमाणु एक फलक-केंद्रित घन क्रिस्टल की एक इकाई सेल का निर्माण करते हैं?
प्रश्न :-62 चांदी fcc में क्रिस्टलीकृत होता है। यूनिट सेल के प्रत्येक edge में है 400 pm की लंबाई हैं । चांदी के परमाणु की त्रिज्या की गणना करें। (मान लें कि परमाणु एक-दूसरे को इकाई सेल के फलक पर विकर्ण पर स्पर्श करते हैं। यानी प्रत्येक फलक परमाणु चार कोने वाले परमाणुओं को छू रहा है।)
प्रश्न :-63 लोहे में 286.65 pm के सेल किनारे के साथ एक bcc घन इकाई cell होती है। लोहे का घनत्व 7.874 ग्राम सेमी-3 है। इस जानकारी का उपयोग अवोगाद्रो की संख्या की गणना के लिए करें। (लोहे के द्रव्यमान पर = 55.845 u)